Feeds:
पोस्ट
टिप्पणियाँ

Archive for अप्रैल 19th, 2010

उत्तर प्रदेश में कानून के रक्षक पुलिस विभाग के लोग आये दिन थानों में बने यातना गृहों में लोगों को इतनी यातनाएं देते हैं कि मौत हो जाती है। कल सीतापुर व एटा जनपद में पुलिस हिरासत में दो व्यक्तियों की मौत हो चुकी है। थानों का प्रभारी अधिकारी उपनिरीक्षक होता है और कोतवाली का इंचार्ज निरीक्षक होता है। इन थानों की व्यवस्था देखने के लिए पुलिस उपाधीक्षक, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक, पुलिस उप महानिरीक्षक, पुलिस महानिरीक्षक और अंत में पुलिस महानिदेशक होता है। इन थानों को उप जिला मजिस्टेट जिला मजिस्टेट कमिश्नर, डिप्टी सचिव गृह, संयुक्त सचिव गृह व प्रमुख सचिव गृह होता है। सरकार स्तर पर गृहमंत्री व मुख्यमंत्री होते हैं। इतनी लम्बी चौड़ी कतार निरीक्षण करती रहती है जिसका खर्चा अरबों रुपये होता है और इसके बाद भी पुलिस हिरासत में मौतों का सिलसिला थम नहीं रहा है। पुलिस की स्तिथि संगठित अपराधी गिरोहों जैसी हो गयी है। आम आदमी थाने जाने में कतराता है वहीँ अपराधियों की सैरगाह थाना होता है। थानों के परंपरागत अपराध से स्थायी मद से आये होती है जिसका बंटवारा ऊपर से नीचे तक होता है। लोकतान्त्रिक समाज बनाये रखने के लिए आज सख्त जरूरत है कि कानून के रक्षकों द्वारा किये जा रहे अपराधों पर नियंत्रण किया जाए।

सुमन
loksangharsha.blogspot.com

Read Full Post »

ब्लॉग उत्सव 2010

सम्मानीय चिट्ठाकार बन्धुओं,

सादर प्रणाम,

आज दिनांक १९.०४.२०१० को ब्लोगोत्सव-२०१० के अंतर्गत प्रकाशित पोस्ट का लिंक

ब्लोगोत्सव-२०१० : मिले सुर मेरा तुम्हारा

http://www.parikalpnaa.com/2010/04/blog-post_18.html

ब्लोगोत्सव-२०१० तीसरे दिन के कार्यक्रम में आपका स्वागत है

http://www.parikalpnaa.com/2010/04/blog-post_6687.html

ब्लोगोत्सव-२०१० : मैंने देखा है बीसवीं सदी का पूर्वार्द्ध

http://www.parikalpnaa.com/2010/04/blog-post_5630.html

ब्लोगोत्सव-२०१० : आईये अब ज़रा काव्य की ओर मुड़ते हैं

http://www.parikalpnaa.com/2010/04/blog-post_19.html

कविता में छिपे दर्द को महसूस करने के लिए आईये चलते हैं….

http://www.parikalpnaa.com/2010/04/blog-post_4681.html

ब्लोगोत्सव-२०१० : आईये अब काव्य पाठ का आनंद लेते हैं

http://www.parikalpnaa.com/2010/04/blog-post_6274.html

श्रेष्ठ पोस्ट श्रृंखला के अंतर्गत आज श्री रवि रतलामी का आलेख

http://www.parikalpnaa.com/2010/04/blog-post_1325.html

ब्लोगोत्सव-२०१० :आज के कार्यक्रम की सम्पन्नता

http://www.parikalpnaa.com/2010/04/blog-post_8952.html

हिन्दी ब्लोगिंग ने एक उत्तेजक वातावरण का निर्माण किया है : शकील सिद्दीकी


http://utsav.parikalpnaa.com/2010/04/blog-post_19.html

प्रश्नों के आईने में….(एक संस्मरण )


http://utsav.parikalpnaa.com/2010/04/blog-post_7315.html

निर्मला कपिला की चार कविताएँ


http://utsav.parikalpnaa.com/2010/04/blog-post_3005.html

ओम आर्य की दो कविताएँ


http://utsav.parikalpnaa.com/2010/04/blog-post_3556.html

सुनिए श्री अनुराग शर्मा की कविता -“गड़बड़झाला” उनकी आवाज़ में


http://utsav.parikalpnaa.com/2010/04/blog-post_5367.html

पहला सुख निरोगी काया : अलका सर्वत मिश्रा


http://utsav.parikalpnaa.com/2010/04/blog-post_4663.html

उत्सव गीत : चिट्ठाकारी में नया इतिहास रचने आए हैं


http://utsav.parikalpnaa.com/2010/04/blog-post_3684.html

हिन्दी हैं हम ……हिन्दी हमारी शान है !


http://shabd.parikalpnaa.com/2010/04/blog-post_19.html

utsav.parikalpnaa.com

अंतरजाल पर परिकल्पना के श्री रविन्द्र प्रभात द्वारा आयोजित ब्लॉग उत्सव 2010 लिंक आप लोगों की सेवा में प्रेषित हैं।

-सुमन
loksangharsha.blogspot.com

Read Full Post »