Feeds:
पोस्ट
टिप्पणियाँ

Archive for अक्टूबर 10th, 2020

भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के कार्यालय का उद्घाटन आल इण्डिया किसान सभा के प्रदेश महासचिव राजेन्द्र यादव पूर्व विधायक ने किया .इस अवसर पर मुखविर राज और आजादी के महानायक -1 तथा लोकसंघर्ष पत्रिका के विशेष अंक का विमोचन भी किया ने किया .
आल इण्डिया किसान सभा के प्रदेश महासचिव राजेन्द्र यादव पूर्व विधायक ने प्रेस कान्फ्रेन्स को सम्बोधित करते हुए कहा कि ‘ मोदी सरकार किसानों के सम्बंध में जिन कानूनों का निर्माण किया है उससे किसानों का कोई भला नहीं होने वाला है । ” मण्डी समाप्त हो जाने के बाद किसानों को न्यूनतम लागत मूल्य मिलने के बजाय 1,200 रूपये प्रति कुन्टल धान खरीदने के लिए कोई तैयार नहीं है और आवश्यक वस्तु अधिनियम से अनाज को बाहर कर बड़े पूंजीपतियों को सस्ते दामों पर खाद्यान्न खरीद कर स्टॉक करने का जो लाइसेन्स मिल गया है उससे शहरी उपभोक्ताओं को भी महंगे दाम पर खाद्यान्न खरीदना पड़ेगा । सरकार ने संविदा खेती की अनुमति देकर गांव में रहने वाले 80 प्रतिशत गरीब पिछड़े लोगों से बटाईदारी का हक छीन लिया है । कार्पोरेट सेक्टर के लोग गांव में छोटे और मंझौले किसान जो लोगों के खेत बटाई पर लेकर जीविकोपार्जन करते थे उनका जीविकोपार्जन का साधन छीन लिया है । श्री यादव ने प्रेस कान्फ्रेन्स को सम्बोधित करते हुए कहा कि बाराबंकी जिला प्रशासन ने आज से कुछ वर्ष पूर्व बाराबंकी विकास प्राधिकरण बनाकर बाराबंकी के किसानों की जमीन छीनने का प्रयास किया था , जिसका विरोध आल इण्डिया किसानसभा के पदाधिकारी होने के नाते गांव – गांव जाकर विरोध कर उस प्रस्ताव को रद्द कराया था लेकिन योगी सरकार के आने के बाद जिला प्रशासन के अधिकारी किसानों की जमीन को छीनने के लिए बाराबंकी विकास प्राधिकरण का प्रस्ताव तैयार किया है जिसका किसानसभा भरपूर विरोध करेगी और किसानों की एक इंच जमीन भी प्राधिकरण को नहीं देने देंगे । वि सान सभा आने वाले दिनो में किसानों की जमीन बचाने के लिए आन्दोल । का रास्ता अख्तियार करेगी।भारतीय कम्युनिस्टपार्टी के इस कार्यक्रम के अवसर पर पार्टी के राज्य परिषद सदस्य रणधीरसिंह सुमन ,पार्टी के जिला सचिव ब्रजमोहन वर्मा ,सह सचिव डॉ कौसर हुसेन ,शिव दर्शन वर्मा ,किसान सभा के अध्यक्ष विनय कुमार सिंह ,उपाध्यक्ष प्रवीन कुमार ,गिरीश चन्द्र ,वीरेंद्र कुमार ,अमर सिंह ,महेंद्र यादव ,आशीष शुक्ला,रमेश वर्मा ,मुनेश्वर ,रामदुलारे यादव ,श्याम सिंह एडवोकेट ,अंकुल वर्मा सहित सैकड़ों लोग थे .

Read Full Post »