Feeds:
पोस्ट
टिप्पणियाँ

Posts Tagged ‘राजा कोलंदर’

/>

070007ffed345349a2bf6f6bdf2697b1_full

मानव खोपड़ी उबाल के पियो
इलाहाबाद के पत्रकार की हत्या के आरोप में राजा कोलंदर उर्फ़ राम निरंजन को आजीवन कारावास की सजा हुई है।साल 2000 में इलाहाबाद में पत्रकार धीरेन्द्र सिंह समेत चौदह लोगों को राजा कोलंदर के फ़ार्म हाउस में बेरहमी से क़त्ल कर उनकी लाश के टुकड़े- टुकड़े कर दिए गए थे. राजा कोलंदर ने काली प्रसाद श्रीवास्तव की हत्या कर उसकी खोपड़ी को उबाल कर पी लिया जिससे वह बुद्धिमान हो जाए। राजा कोलंदर ने काफी लोगों की हत्या कर उनकी खोपड़ी को उबाल कर पिया। मानव रक्त भी वह शौक से पीता था। नरमुंडो को जाति के अनुसार रंग कर रखता था।
राजा कोलंदर की शादी शंकरगढ़ के पत्रकार धीरेन्द्र सिंह के गाँव में हुई थी। उसकी पत्नी का नाम गोमती था वह जिला पंचायत सदस्य भी रही हैं। राजा कोलंदर ने उनका नाम बदलकर फूलन देवी रख दिया था। उनके बड़े बेटे का नाम जमानत था और छोटे बेटे का नाम अदालत था। बेटी का नाम क्रांती था।
भारतीय समाज में किवदंतियों, आख्यानो, मिथकों में बे सिर-पैर की बातें आती रहती है। जिससे कम बुद्धि वाले मानव मस्तिष्क पर चमत्कारी असर होता है जिसके फल स्वरूप राजा कोलंदर जैसे मानवों का निर्माण होता है जो तरह-तरह की उलूल जुलूल हरकतें करके मानव जाति को कलंकित करने का काम करती रहती है। विभिन्न धर्मों के आख्यानो में सुपर पावर जैसी संरचना निर्मित होती है और जब वह वास्तविक दुनिया में लोग सुपर पॉवर बनने लगते हैं तो उसका असली चेहरा नरभक्षी के रूप में प्रकट होता है। इलेक्ट्रॉनिक व प्रिंट मीडिया भी भूत-प्रेत से लेकर ज्योतिष तक काल्पनिक मनोविकारों का प्रचार-प्रसार करते रहते हैं जिसका सीधा असर समाज पर होता है और उससे समाज विकृत भी होता है। देखने में तो यहाँ तक आ रहा है की बगैर मेहनत किये धन-धान्य से परिपूर्ण होने के लिए उँगलियों में दर्जनों अंगूठियाँ लोग पहनने लगे हैं, हीरा, पन्ना, पुखराज, मूँगा आदि पहनने से भाग्य परिवर्तन की आशा में करोडो लोग लगे रहते हैं और अंत में माया मिली न राम।

सुमन
लो क सं घ र्ष !

Read Full Post »